उत्तराखंड: ऐतिहासिक पर्यटन स्थल को बदरंग कर रहे हैं ज़ाहिल लोग, कार्रवाई के निर्देश जारी (Tourists are polluting Gartang street)
Connect with us
Happy independence day 2021
Image: Tourists are polluting Gartang street

उत्तराखंड: ऐतिहासिक पर्यटन स्थल को बदरंग कर रहे हैं ज़ाहिल लोग, कार्रवाई के निर्देश जारी

गरतांग गली के खुलने से कुछ लोग बेहद खुश हुए तो वहीं कुछ लोग ऐसे भी थे जो यहां घूमते वक्त अपनी जाहिली का नमूना पीछे छोड़ गए। ऐसे लोगों को अब खूब सबक सिखाया जाएगा।

उत्तरकाशी की गरतांग गली। प्राचीन इंजीनियरिंग का नायाब नमूना। सदियों पहले बने इस रास्ते से कभी भारत-तिब्बत के बीच व्यापार हुआ करता था। भारत-चीन युद्ध के बाद ये रास्ता बंद हो गया। दशकों तक ये रास्ता बंद ही रहा। कुछ समय पहले इसकी मरम्मत हुई, और गरतांग गली को पर्यटकों की आवाजाही के लिए खोल दिया गया। इससे कुछ लोग बेहद खुश हुए तो वहीं कुछ लोग ऐसे भी थे जो यहां घूमते वक्त अपनी जाहिली का नमूना भी पीछे छोड़ गए। इन्होंने सीढ़ियों से लेकर रेलिंग तक अपने नाम कुरेद कर इतिहास के इस खजाने को बदरंग कर दिया। सोशल मीडिया पर इन लोगों की कारस्तानी के नमूने वायरल हुए तो पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज भी एक्शन में आ गए। उन्होंने ऐतिहासिक गरतांग गली की सीढ़ियों को बदरंग करने के मामले में डीएम मयूर दीक्षित से बात की। साथ ही गरतांग गली को बदरंग करने वाले लोगों को चिन्हित कर उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई के निर्देश भी दिए।

यह भी पढ़ें - गढ़वाल: देश के सबसे लंबे सस्पेंशन ब्रिज की मास्टिक में पड़ी दरार, 10वें महीने में ये हाल
इसके अलावा अब गरतांग गली में सुरक्षा के मद्देनजर कर्मचारी भी तैनात किए जाएंगे। यहां आपको गरतांग गली का इतिहास भी बताते हैं। 17वीं शताब्दी (लगभग 300 साल पहले) पेशावर के पठानों ने 11 हजार फीट की ऊंचाई पर दुनिया का सबसे खतरनाक रास्ता तैयार किया था, जिसे आज हम गरतांग गली के नाम से जानते हैं। करीब 150 मीटर लंबी लकड़ी से तैयार यह सीढ़ीनुमा गरतांग गली भारत-तिब्बत व्यापार की साक्षी रही है। लोक निर्माण विभाग ने बीते अप्रैल महीने में करीब 64 लाख की लागत से गरतांग गली का पुनर्निर्माण का कार्य शुरू किया। जिसके बाद इसे पर्यटकों के लिए खोल दिया गया। बीते दो हफ्ते में यहां 350 से ज्यादा पर्यटक पहुंच चुके हैं, लेकिन कुछ बिगड़ैल पर्यटक ऐतिहासिक सीढ़ियों को बदरंग करने पर तुले हैं। पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने मामले को गंभीरता से लेते हुए डीएम मयूर दीक्षित को ऐसा करने वालों की पहचान करने और उनके खिलाफ कड़ा एक्शन लेने के निर्देश दिए हैं।

Loading...

Latest Uttarakhand News Articles

वीडियो : आछरी : नए जमाने का गढ़वाली गीत
वीडियो : केदार डोली यात्रा 2021
वीडियो : बिनसर टॉप में बादल फटने से चमोली में तबाही
वीडियो : शहीद मेजर की पत्नी ने पहनी सेना की वर्दी

उत्तराखंड की ट्रेंडिंग खबरें

वायरल वीडियो

इमेज गैलरी

SEARCH

पढ़िये... उत्तराखंड की सत्ता से जुड़ी हर खबर, संस्कृति से जुड़ी हर बात और रिवाजों से जुड़े सभी पहलू.. rajyasameeksha.com पर।


Copyright © 2017-2021 राज्य समीक्षा.

To Top